Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

हृदय रोग- Angina pectoris, छाती व ह्रदय का दर्द

    एंजाइना क्या है ? - what is angina ? 


     एंजाइना का दर्द छाती में होता है यह दर्द तब होता है जब हृदय को पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं मिल पाता हृदय को तीन प्रमुख धमनियों से रक्त मिलता है । लेकिन जब इन रक्त धमनियों में कोलेस्ट्रोल के जमने के कारण रुकावट आ जाती है तब रक्त हृदय तक नहीं पहुंच पाता और इस अवस्था में दर्द महसूस होने लगता है। इस अवस्था को एंजाइना कहते हैं 



     एनजाइना का तात्पर्य मुख्य रूप से सीने में बार-बार होने वाली तकलीफ से है, जिसकी मूल बजह हृदय की मांसपेशियों में आवश्यकता अनुसार पहुंचने वाले रक्त की मात्रा में कमी आ जाना है।


     एंजाइना होने के कारण :


      एंजाइना का सबसे महत्वपूर्ण कारण हृदय की धमनियों में चर्बी इकट्ठा हो जाने पर सिकुड़न हो जाती है। धमनियों में सिकुड़न हो जाने के कारण खून की मात्रा में कमी आ जाती है। कम रक्त प्रवाह के कारण मरीज को बैठने या आराम करने पर कोई तकलीफ नहीं होती परंतु जब वह चलता है या खाना खाता है या कोई शारीरिक काम करता है तो ऐसी स्थिति में उसे तकलीफ होने लगती है।


और देखें - हाई ब्लड प्रेशर


  • Coronary spasm के कारण भी छाती में दर्द होने लगता है।
  • अधिक कार्य करने पर हृदय की मांसपेशियों को अधिक खून की आवश्यकता होती है लेकिन धमनियों में सिकुड़न होने के कारण पर्याप्त खून नहीं मिल पाता जिस कारण एंजाइना होने लगता है।
  • खून की कमी के कारण भी एंजाइना की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • मानसिक तनाव और खान पीन के कारण भी एंजाइना की समस्या हो जाती है
नोट - एंजाइना अधिकतर coronary artery मैं atheroma हो जाने केेेे कारण होता है।

याद रहे


खून की कमी, बुखार, हाई ब्लड प्रेशर, थायराइड हार्मोन की अधिकता या कुछ ऐसी बीमारियां जिनमें नब्ज तेज रफ्तार से चलती है,इन स्थितियों में एंजाइना से पीड़ित व्यक्ति की तकलीफ और अधिक बढ़ जाती है।


और देखें - माइग्रेन, सिर दर्द

एंजाइना पेक्टोरिस के लक्षण  symptoms of angina pectoris :


    एंजाइना में होने वाली तकलीफ का संबंध शारीरिक कामकाज से है। शुरू में एंजाइना से पीड़ित व्यक्ति को तकलीफें अधिक देर तक चलने, ऊंचाई या सीढ़ी पर चढ़ने, साइकिल चलाने या कोई भारी काम करने से होने लगती है। एंजाइना की समस्या मानसिक तनाव या खाना खाने के बाद भी हो सकती हैं।एंजाइना से पीड़ित बहूत से मरीजों को खाली पेट चलने से तकलीफ नहीं होती परंतु खाना खाने के बाद चलना मुश्किल हो जाता है।

       एंजाइना में व्यक्ति को तेज दर्द नहीं होता परंतु उसे बाए हाथ में, गले में, जबड़े या फिर कभी कभी दाहिने हाथ में भारीपन रहता है। एंजाइना का दर्द शुरू होने के बाद मरीज के रुक जाने या बैठ जाने पर 3 से 10 मिनट के बाद रोगी को आराम आ जाता है।

और पढ़ें -

 नेफ्रोटिक सिंड्रोम👈

चेहरे पर कील मुंहासे👈


  • एंजाइना के मरीज में सीने में दर्द के अलावा थोड़ी दूर चलने पर अत्यधिक सांस फूलने लगती है या अधिक थकान महसूस होती है।
  • भोजन करने के पश्चात या क्रोध में यह दर्द 15 से 20 मिनट तक बना रहता है।
  • अगर एंजाइना का दर्द 30 मिनट से अधिक तक बना रहे तो हृदय के गंभीर रोग हो सकते हैं।
  • दर्द शारीरिक काम या थकान के बाद शुरू होता है।
  • अधिकतर मरीजों में एंजाइना का दर्द 2 से 3 मिनट तक रहता है और आराम करने पर कम हो जाता है।
  • दर्द तेज होने पर रोगी कभी-कभी छाती में भारीपन, जलन, चुभन व छाती जकड़ी हुई बताता है।
  • तेज दर्द होने पर रोगी को पसीना आने लगता है और कभी-कभी उल्टी भी आ जाती है।
YouTube channel 👈

Post a Comment

0 Comments